वसूली के आरोप में कथित पत्रकार गिरफ्तारपंजाब में वरिष्ठ पत्रकार और उनकी मां की हत्यासड़क हादसे में टीवी चैनल के संवाददाता और कैमरामैन की मौतएनडीटीवी ने की आधिकारिक घोषणा, 'चैनल बिकने की खबर कोरी अफवाह'एशियानेट टीवी के कार्यालय पर हमला, संपादक और रिपोर्टर बाल-बाल बचेखबर लिखने के कारण हुई थी पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या : सीबीआई पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या, पीछे से हमला किया, अगवा किया, चाकू से मार डालाएनडीटीवी के मालिक होंगे स्‍पाइजेट के अजय सिंहआईनेक्स्ट को मनीष कुमार ने कहा अलविदापत्रकार गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्यासमाचार TODAY को चाहिए स्क्रिप्ट राइटर/कॉपी एडिटरदबंग दुनिया जबलपुर में मची भागमभाग और अफरा तफरीअब फिल्मिनिज्म डॉट कॉम पर पढिये फिल्मी दुनिया की ताजातरीन खबरें और गॉसिप्स मैक्सिको में एक और पत्रकार की हिंसाग्रस्त राज्य वेराक्रूज में गोली मारकर हत्या ‘लॉस एंजिलिस टाइम्स’ से कईयों की छुट्टी फर्जी पत्रकार बन करता था ठगी, धरा गया पत्रकार के निधन पर शोक सभापत्रकार पंकज खन्ना आत्महत्या मामला- गुज्जर के बाद सह आरोपियों की सजा भी सस्पैंडपत्रकार शोभा डे ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का मजाक उड़ायाअडानी समूह की कंपनी ने की 1500 करोड़ की हेराफेरी और टैक्‍स चोरीपत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड में सीबीआइ के आवेदन को कोर्ट ने किया खारिजवरिष्ठ पत्रकार गोपाल असावा का ह्दयाघात से निधनमजीठिया वेजबोर्ड का फैसला आपके हक में19 जून को आएगा मजीठिया वेजबोर्ड का फैसलालुधियाना प्रैस क्लब के चुनाव 25 जून कोभास्कर दिल्ली में अगस्त तक, यूपी में भी इंट्रीन्यूज चैनल की महिला रिपोर्टर ने लगाया शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का आरोप विभूति रस्तोगी को ढूंढ रही है पुलिस, बलात्कार का है आरोपदैनिक जागरण के वरिष्ठ समाचार संपादक राजू मिश्र को रेड इंक अवॉर्डपुणे में टीवी पत्रकार से बदसलूकीशशि थरूर मानहानि मामले में अर्नब गोस्वामी को हाईकोर्ट का नोटिसछत्तीसगढ़ को 17 साल बाद मिला अपना दूरदर्शन चैनलदैैनिक जागरण के मीडियाकर्मी पंकज कुमार के ट्रांसफर मामले को सुप्रीमकोर्ट ने अवमानना मामले से अटमुंबई में नवभारत के 40 मीडियाकर्मियो ने बनायी यूनियनदबंग के खिलाफ कई पूर्व संपादक भी केस करने को तैयार ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता से टारगेटेड जर्नलिज्म सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार का झूठा हलफनामा, कहा-हिन्दुस्तान की दसों यूनिटों में है मजीठिया लागशशि थरूर ने अरनब गोस्वामी पर ठोका मानहानि का मुकदमामानस त्रिपाठी का लैपटाप चोर ले भागेपत्रकार राजदेव हत्याकांड में पूर्व सांसद शहाबुद्दीन आरोपीमेक्सिको के दिग्गज वरिष्ठ पत्रकार की सिनालोआ में हत्याफोर्ब्स की ग्लोबल गेम चेंजर लिस्ट में मुकेश अंबानी अव्वलरिपब्लिक के साथ पोस्टर वारशशांक भापेकर को नहीं मिली जमानतअमर उजाला में कई संपादक इधर उधरजस्टिस मजीठिया वेजबोर्ड अवमानना: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला रिजर्व रखाउज्जैन में अखबार के खिलाफ मामला दर्जटीवी चैनल के पत्रकार फैसल इकबाल को पुलिस ने जड़ा तमाचापत्रकार दिलीप मंडल हुए सम्मानितजस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड पर सुनवाई आज

आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र के बहाने पत्रकारिता के जनसरोकार की तलाश

कुमार कृष्णन। बिहार के चर्चित पत्रकार आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र की पुण्यतिथि पर लक्ष्मीकांत मिश्र मेमोरियल फाउंडेशन नई दिल्ली और पत्रकार समूह मुंगेर द्वारा आयोजित समारोह में महात्मा गांधी और
आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र के बहाने पत्रकारिता के जनसरोकार की तलाश कुमार कृष्णन। बिहार के चर्चित पत्रकार आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र की पुण्यतिथि पर लक्ष्मीकांत मिश्र मेमोरियल फाउंडेशन नई दिल्ली और पत्रकार समूह मुंगेर द्वारा आयोजित समारोह में महात्मा गांधी और स्वामी सत्यानंद के विचारों के परिप्रेक्ष्य में पत्रकारिता के सरोकार पर संगोष्ठी महत्वपूर्ण रही. इस संगोष्ठी की अहमियत इसलिए है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर लगातार हमले हो रहे हैं और लेखक पुरस्कार लौटा रहे हैं. प्राकृतिक संसाधनों पर लोगों का अधिकार खत्म हो रहा है. बिहार के पत्रकारों के लिए घोषित सरकारी पुरस्कार फाइलों के बस्ते में धूल फांक रहा है. वैसे समय में एक पत्रकार की याद में विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल किये. पांच लोगों को पुरस्कृत तथा सम्मानित किये जाने का भी एक मायने है. ज​हां तक मुख्यधारा की मीडिया का सवाल है तो पानी,पर्यावरण जैसे अहम् मुद्दे हाशिये पर हैं. इन सम्मानितों में अनिल राम भले ही बिहार सरकार का चतु​र्थवर्गीय कर्मचारी हो लेकिन उनके काम बड़े हैं। आज से दो दशक पहले उसकी नियुक्ति बिहार सरकार के दफ्तर में बिहारशरीफ में चतुर्थवगीय कर्मचारी के रूप में हुई. उसी समय से उसने यह फैसला लिया कि रोजी के साथ—साथ समाज के लिए कुछ करना है.उसने हर क्षेत्र को हरित बनना है,यह संकल्प लिया. अपने सेवा के क्षेत्र में पेड़ लगाए. वह सड़क किनारे ऐसे जगहों का चयन करता है,जहां लोग गंदगी फैलाते हैं,वह उन स्थानों को साफ कर एक बगिया का रूप प्रदान करता हैं. संप्रति वह मुंगेर प्रमंडलीय आयुक्त के कार्यालय का चतुर्थवर्गीय कर्मचारी है. हरित मुंगेर और स्वच्छ मुंगेर बनाना उसका लक्ष्य है। कार्यक्रम का शुभारंभ बिहार योग विद्यालय के परमाचार्य परमहंस स्वामी निरंजनानंद सरस्वती ने दीप प्रज्वलित कर तथा उनके चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया. आरंभ में देश के चर्चित पत्रकार रामबहादुर राय के संदेश् को अजाना घोष ने पढ़ा. रामबहादुर राय ने अपने संदेश में कहा कि यह उम्मीद पैदा करती सूचना है कि आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र की याद में सरोकारी पत्रकारिता का आयोजन मुंगेर में हो रहा है. यह समय चौतरफा मूल्यों में गिरावट का है, पत्रकारिता में भी. ऐसा नहीं हो सकता है कि पत्रकारिता अपने समय की इस प्रवृति से पड़े हो जाय. यदि ऐसा होता है तो यह एक चमत्कार होगा. ऐस समय में लक्ष्मीकांत मिश्रा को याद करने में अपना एक खास महत्व है. उनकी पत्रकारिता अपने जीवनकाल में निरंतर ऐसी खोज की ओर अग्रसर थी. जिसमें लोक हित लक्ष्य होता था. ऐसी पत्रकारिता में सच को जानने की कोशिश चलती थी. जानना सहज नहीं होता है उसके लिए प्रयास करना पड़ता है. कई बार प्रयास थका देने वाला भी होता है. हमेशा सफलता हाथ नहीं लगती है. निराषा के क्षण भी आते हैं. फिर भी जो व्यक्ति एक पत्रकार के रूप में जानने में लगा रहता है वह इसकी परवाह नहीं करता है कि सफलता हाथ लगती है या नहीं. जानने और मानने में जमीन-आसमान का फर्क है. बिना जानने माने वाला ईमानदार नहीं हो सकता. जानने के बाद न मानने वाला भी ईमानदार नहीं हो सकता. जानना एक घटना भी हो सकती है. वह एक तथ्य ज्ञान का साक्षात्कार भी हो सकता है. कोई पत्रकार अपने काम में जानने में लगा होता है. जो जान पाता है वही लोगों को बता पाता है. यही सार्थक पत्रकारिता है. आज के समय में क्रम पलट गया है. बिना जानने-माने वाले पत्रकार अधिक हुए. वे जो मानते हैं वे दूसरे भी माने सक्रिय हो गये हैं. फिर पत्रकारों के सामने रौल मॉडल यानी आदर्श हो. यही सवाल है जो आयोजन से हल हो सकता है. पत्रकार की भूमिका चाहे जो हो एक निरंतरता हमेशा बनी रहेगी. इन दिनों एक ज्ञान बड़े जोर से फैलाया जा रहा है कि हमारा वास्ता उस पत्रकारिता से नहीं है जिसे स्वाधीनता संग्राम में अपनाया गया. इसे एक तर्क पर खड़ा किया जा रहा है. देश आजाद है और आजादी के अनेक दशक हो गये तो उस समय के पत्रकारिता के आदर्श पर चलने की क्या जरूरत. यह तर्क बहुत खोखला है. इसे जितना जल्दी समझ सकेंगे उतना ही जल्दी हमारी भटकन खत्म होगी. आजादी के आंदोलन की पत्रकारिता में समग्रता थी. इसलिए उसे आदर्श मानकर भारत में पत्रकारिता को अपनी भूमिका तय करनी चाहिए. यही बात आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र को याद करते हुए हमें समझने की जरूरत है. संगोष्ठी को संबोधित करते हुए अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त योग संस्थान बिहार योग विद्यालय के परमाचार्य परमहंस स्वामी निरंजनानंद सरस्वती ने कहा कि पत्रकारिता चिंतन की अभिव्यक्ति है. चिंतन से ही मनुष्य लक्ष्य निर्धारित करता है और समाज के उत्थान में अपनी भूमिका निभाता है. महात्मा गांधी एवं परमहंस स्वामी सत्यानंद सरस्वती ने अपने चिंतन के माध्यम से ही समाज को दिशा दी. सूचना भवन के प्रशाल में आयोजित ‘‘ महात्मा गांधी व स्वामी सत्यानंद के विचार के परिप्रेक्ष्य में पत्रकारिता के सरोकार ’’ विषय पर अपने उद्गार व्यक्त करते हुए स्वामी निरंजनानंद ने कहा कि गांधी जी ने अपने चिंतन के माध्यम से स्वराज को आंदोलन बनाया और पूरी दुनिया को एक संदेश दिया. जबकि स्वामी सत्यानंद ने आध्यात्मिक चिंतन के माध्यम से पूरी दुनिया में योग को जनसाधारण तक पहुंचाया. उन्होंने समाज के अंतिम व्यक्ति की बात की और उनके उत्थान के लिए कार्य किये. उन्होंने कहा कि स्वामी सत्यानंद जी का चिंतन न सिर्फ आध्यात्मिक बल्कि सामाजिक चिंतन था. हम शांति को स्थापित करना चाहते हैं लेकिन इसके लिए जरूरी है अशांति के कारणों का निराकरण करना. अब जहां पत्रकारिता सोशल मीडिया के माध्यम से व्यापक स्तर पर फैल चुका है वहां संगठित पत्रकार की भूमिका है कि वे बेहतर चिंतन के माध्यम से समाज को नई दिशा दे. इससे पूर्व संगोष्ठी में विषय प्रवेश कराते हुए वरिष्ठ पत्रकार कुमार कृष्णन ने कहा कि महात्मा गांधी व स्वामी सत्यानंद का पत्रकारिता के दृष्टिकोण से काफी एकरूपता है. स्वामी सत्यानंद का पत्रकारिता से गहरा लगाव रहा. वे स्वामी शिवानंद के आश्रम में निकलने वाले हस्त लिखित पत्रिका का जहां संपादन किये थे. वहीं सुमित्रानंदन पंत के साथ मिल कर अनुगामी पत्रिका का संपादन किया था. उन्होंने कहा कि स्वामी जी महात्मा गांधी के विचार से ही जुड़े रहे. यहां तक कि वे वरधा व साबरमती आश्रम भी गये थे. दिल्ली जनसत्ता के महानगर संपादक प्रसून लतांत ने कहा कि पत्रकारिता का क्षेत्र व्यापक रहा है और अब सिटीजन जर्नलिज्म का दौर शुरू हो गया है. इस परिस्थिति में जरूरत है कि गांधी और स्वामी सत्यानंद के पत्रकारिता को समझने की.समारोह की अध्यक्षता सूचना एवं जनसंपर्क के निदेशक कमलाकांत उपाध्याय ने की. कार्यक्रम का संचालन कुमार कृष्णन ने किया. समारोह को शिक्षक संघ के वयोवृद्ध नेता हर्ष नारायण झा, मुंगेर चैंबर आफ कामर्स के अध्यक्ष राजेश जैन, वरिष्ठ साहित्यकार अतुल प्रभाकर, पत्रकार प्रशांत, अवधेश कुंवर, किशोर जायसवाल, शिवशंकर सिंह पारिजात, राजेश तिवारी, मीणा तिवारी ने भी संबोधित किया. इस अवसर पर आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र मेमोरियल फाउंडेशन नई दिल्ली की ओर से विभिन्न क्षेत्रों के पांच विभूतियों को परमहंस स्वामी निरंजनानंद सरस्वती ने सम्मानित किया. साहित्य सेवा के क्षेत्र में दिल्ली के वरिष्ठ साहित्यकार अतुल प्रभाकर, समाजसेवा के क्षेत्र में भागलपुर की अमिता मोइत्रा एवं वंदना झा, पत्रकारिता के क्षेत्र में राणा गौरी शंकर तथा पर्यावरण के क्षेत्र में अनिल राम को स्मृति चिह्न, प्रशस्ति पत्र एवं शाल देकर सम्मानित किया गया. इसका चयन एक निर्णायक समिति ने किया था. जिसमें प्रसून लतांत, डॉ रामनिवास पांडेय, मनोज सिन्हा, अमर मिश्रा और डॉ नृपेंद्र प्रसाद वर्मा थे. सम्मान समारोह का संचालन अभिषेक सोनी ने किया। इस अवसर पर एक कवि सम्मेलन का भी आयोजन किया गया. कवि सम्मेलन में अनिरुद्ध सिन्हा, अशोक आलोक, विजय गुप्त एवं विकास सहित अन्य कवियों ने अपनी रचनाओं का पाठ कर भाव तथा बोध को अभिव्यक्ति प्रदान की.धन्यवाद ज्ञापन पत्रकार नरेशचंद्र राय ने किया।

यदि आपके पास भी मीडिया जगत से संबंधित कोई समाचार या फिर आलेख हो तो हमें jansattaexp@gmail.com पर य़ा फिर फोन नंबर 9650258033 पर बता सकते हैं। हम आपकी पहचान हमेशा गुप्त रखेंगे। - संपादक

Your Comment

Latest News वसूली के आरोप में कथित पत्रकार गिरफ्तार पंजाब में वरिष्ठ पत्रकार और उनकी मां की हत्या सड़क हादसे में टीवी चैनल के संवाददाता और कैमरामैन की मौत एनडीटीवी ने की आधिकारिक घोषणा, 'चैनल बिकने की खबर कोरी अफवाह' एशियानेट टीवी के कार्यालय पर हमला, संपादक और रिपोर्टर बाल-बाल बचे खबर लिखने के कारण हुई थी पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या : सीबीआई पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या, पीछे से हमला किया, अगवा किया, चाकू से मार डाला एनडीटीवी के मालिक होंगे स्‍पाइजेट के अजय सिंह आईनेक्स्ट को मनीष कुमार ने कहा अलविदा पत्रकार गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या समाचार TODAY को चाहिए स्क्रिप्ट राइटर/कॉपी एडिटर दबंग दुनिया जबलपुर में मची भागमभाग और अफरा तफरी अब फिल्मिनिज्म डॉट कॉम पर पढिये फिल्मी दुनिया की ताजातरीन खबरें और गॉसिप्स मैक्सिको में एक और पत्रकार की हिंसाग्रस्त राज्य वेराक्रूज में गोली मारकर हत्या ‘लॉस एंजिलिस टाइम्स’ से कईयों की छुट्टी फर्जी पत्रकार बन करता था ठगी, धरा गया पत्रकार के निधन पर शोक सभा पत्रकार पंकज खन्ना आत्महत्या मामला- गुज्जर के बाद सह आरोपियों की सजा भी सस्पैंड पत्रकार शोभा डे ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का मजाक उड़ाया अडानी समूह की कंपनी ने की 1500 करोड़ की हेराफेरी और टैक्‍स चोरी पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड में सीबीआइ के आवेदन को कोर्ट ने किया खारिज वरिष्ठ पत्रकार गोपाल असावा का ह्दयाघात से निधन मजीठिया वेजबोर्ड का फैसला आपके हक में 19 जून को आएगा मजीठिया वेजबोर्ड का फैसला लुधियाना प्रैस क्लब के चुनाव 25 जून को भास्कर दिल्ली में अगस्त तक, यूपी में भी इंट्री न्यूज चैनल की महिला रिपोर्टर ने लगाया शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का आरोप विभूति रस्तोगी को ढूंढ रही है पुलिस, बलात्कार का है आरोप दैनिक जागरण के वरिष्ठ समाचार संपादक राजू मिश्र को रेड इंक अवॉर्ड पुणे में टीवी पत्रकार से बदसलूकी शशि थरूर मानहानि मामले में अर्नब गोस्वामी को हाईकोर्ट का नोटिस छत्तीसगढ़ को 17 साल बाद मिला अपना दूरदर्शन चैनल दैैनिक जागरण के मीडियाकर्मी पंकज कुमार के ट्रांसफर मामले को सुप्रीमकोर्ट ने अवमानना मामले से अट मुंबई में नवभारत के 40 मीडियाकर्मियो ने बनायी यूनियन दबंग के खिलाफ कई पूर्व संपादक भी केस करने को तैयार ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता से टारगेटेड जर्नलिज्म सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार का झूठा हलफनामा, कहा-हिन्दुस्तान की दसों यूनिटों में है मजीठिया लाग शशि थरूर ने अरनब गोस्वामी पर ठोका मानहानि का मुकदमा मानस त्रिपाठी का लैपटाप चोर ले भागे पत्रकार राजदेव हत्याकांड में पूर्व सांसद शहाबुद्दीन आरोपी मेक्सिको के दिग्गज वरिष्ठ पत्रकार की सिनालोआ में हत्या फोर्ब्स की ग्लोबल गेम चेंजर लिस्ट में मुकेश अंबानी अव्वल रिपब्लिक के साथ पोस्टर वार शशांक भापेकर को नहीं मिली जमानत अमर उजाला में कई संपादक इधर उधर जस्टिस मजीठिया वेजबोर्ड अवमानना: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला रिजर्व रखा उज्जैन में अखबार के खिलाफ मामला दर्ज टीवी चैनल के पत्रकार फैसल इकबाल को पुलिस ने जड़ा तमाचा पत्रकार दिलीप मंडल हुए सम्मानित जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड पर सुनवाई आज