मजीठिया वेजबोर्ड का फैसला आपके हक में19 जून को आएगा मजीठिया वेजबोर्ड का फैसलालुधियाना प्रैस क्लब के चुनाव 25 जून कोभास्कर दिल्ली में अगस्त तक, यूपी में भी इंट्रीन्यूज चैनल की महिला रिपोर्टर ने लगाया शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का आरोप विभूति रस्तोगी को ढूंढ रही है पुलिस, बलात्कार का है आरोपदैनिक जागरण के वरिष्ठ समाचार संपादक राजू मिश्र को रेड इंक अवॉर्डपुणे में टीवी पत्रकार से बदसलूकीशशि थरूर मानहानि मामले में अर्नब गोस्वामी को हाईकोर्ट का नोटिसछत्तीसगढ़ को 17 साल बाद मिला अपना दूरदर्शन चैनलदैैनिक जागरण के मीडियाकर्मी पंकज कुमार के ट्रांसफर मामले को सुप्रीमकोर्ट ने अवमानना मामले से अटमुंबई में नवभारत के 40 मीडियाकर्मियो ने बनायी यूनियनदबंग के खिलाफ कई पूर्व संपादक भी केस करने को तैयार ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता से टारगेटेड जर्नलिज्म सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार का झूठा हलफनामा, कहा-हिन्दुस्तान की दसों यूनिटों में है मजीठिया लागशशि थरूर ने अरनब गोस्वामी पर ठोका मानहानि का मुकदमामानस त्रिपाठी का लैपटाप चोर ले भागेपत्रकार राजदेव हत्याकांड में पूर्व सांसद शहाबुद्दीन आरोपीमेक्सिको के दिग्गज वरिष्ठ पत्रकार की सिनालोआ में हत्याफोर्ब्स की ग्लोबल गेम चेंजर लिस्ट में मुकेश अंबानी अव्वलरिपब्लिक के साथ पोस्टर वारशशांक भापेकर को नहीं मिली जमानतअमर उजाला में कई संपादक इधर उधरजस्टिस मजीठिया वेजबोर्ड अवमानना: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला रिजर्व रखाउज्जैन में अखबार के खिलाफ मामला दर्जटीवी चैनल के पत्रकार फैसल इकबाल को पुलिस ने जड़ा तमाचापत्रकार दिलीप मंडल हुए सम्मानितजस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड पर सुनवाई आज दैनिक जागरण के संपादक संजय गुप्त आइमा मैनेजिंग इंडिया अवार्ड से सम्मानितसुप्रीमकोर्ट में जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड की अगली सूनवाई तीन मई को रांची से शीघ्र ही न्यूजपोर्टल ‘लहरन्यूज डॉट कॉम’ की लॉचिंगदैनिक हिन्दुस्तान में प्रतिदिन मालिक का नाम न छापने का मामलाबरेली डीएलसी को हिंदुस्तान के चार शिकायतकर्ताओं की तलाशमजीठिया मामले में दैनिक जागरण के एडवोकेट अनिल दिवान का निधनऑफिस में यौन शोषण की शिकार महिला को मिलेगा बड़ी राहतवर्तमान समय में पत्रकारों को आत्म चिंतन की आवश्यकता -डॉ राजकुमार सिंह राजनीतिक पत्रिका ‘तुगलक’ के संस्थापक चो रामास्वामी का निधनसंजय कुमार ने दूरदर्शन में सहायक निदेशक समाचार का पदभार संभालारांची में पत्रकार पर जानलेवा हमले का आरोपी गिरफ्तारहिन्दुस्तान ने पत्रकारों को बना दिया मैनेजर, बिना जर्नलिस्ट के छाप रहे अख़बारबिहार में ईपीएफ या पीएफ पाने वाले पत्रकारों को पेंशनमजीठिया प्रकरण में हिंदुस्तान की सबसे बड़ी हार, लखनऊ में 16 आरसी कटने से हड़कंपहिंदुस्तान बरेली में राजेश्वर ने भी ठोंका श्रम न्यायालय में क्लेम'मीडिया की ओर देखती स्त्री' का लोकार्पणपत्रकार से बदसलूकी पर तीन पुलिसकर्मी नपेएनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार को कुलदीप नैयर सम्मानमाखनलाल में खुलेगा भाषा व संस्कृति अध्ययन विभागशिकायत वापस लेने वाले भी डीएलसी से बोले- नहीं मिल रहे है मजीठिया के लाभसंपादक संतोष तिवारी का निधन'पत्रकारिता जोश और जुनून का काम

पत्रकारों पर हमले सरकारों व कानून की ढील -ओम प्रकाश उनियाल

देहरादून। पत्रकारिता भी एक जुनून है। जिसके सिर पर यह जुनून सवार हो जाता है वह किसी भी खतरे से खेलने के लिए हरदम तैयार रहता है। पत्रकारों की आर्थिक स्थिति इतनी दयनीय होती है
पत्रकारों पर हमले सरकारों व कानून की ढील					-ओम प्रकाश उनियाल



देहरादून। पत्रकारिता भी एक जुनून है। जिसके सिर पर यह जुनून सवार हो जाता है वह किसी भी खतरे से खेलने के लिए हरदम तैयार रहता है। पत्रकारों की आर्थिक स्थिति इतनी दयनीय होती है कि उल्लेख करने में भी हिचक पैदा होती है। हर समय अखबार मालिकों की तलवार तो उसकी गर्दन पर लटकी ही रहती है साथ ही सामाजिक दायरा निभाने की जिम्मेदारी भी। इसके अलावा अपराधियों,माफियाओं,भ्रष्ट राजनेताओं, अधिकारियों व पुलिस की आंखों की किरकिरी बनना पड़ता है। बदले में मिलती है धमकियां,मौत और हमले।




देश आजादी के बाद भी लोकतंत्र का चैथा-स्तम्भ हमेशा ही खतरे में रहा है। अंग्रेजी शासन में अंग्रेजों ने उनके खिलाफ लिखने वाले अखबारों को जब्त करना, छापाखाना बंद करवा देना, पत्रकारोें पर जुल्म ढाहना जैसी हरकतें कर प्रैस की आवाज दबाने का हर संभव प्रयास किया। यही प्रक्रियाएं आज के स्वतंत्र भारत में भी अपनायी जा रही हैं।



पै्रस पर राजनीति, पुलिस अफसरशाही और नाना प्रकार के माफिया हावी होते जा रहे हैं। सच लिखने वालों का हश्र क्या हो रहा है किसी से छिपा नहीं है। हाल ही में उत्तरप्रदेश और मघ्यप्रदेश में पत्रकारों के साथ घटी घटना ने यह सवाल खड़ा कर दिया है कि सच लिखने वाला कलम का सिपाही सुरक्षित नहीं है। ऐसा नहीं कि यह पहली बार हो रहा हो न जाने बीते सालों में कितने ही पत्रकारों पर हमले व मौत के घाट उतारने की घटनाएं घटित हो चुकी हैं।



आज हमारे देश में पत्रकारों के हित के लिए अनगिनत संगठन बने हुए हैं, भारतीय पै्रस परिषद है फिर भी पै्रस की आजादी पर ऐसा हमला करने वाले बेहिचक हिम्मत जुटाते रहते हैं। पत्रकार संगठनों के सामने ऐसी घटनाएं चुनौतियां बनती जा रही हैं। चिंता का विषय तो यह है कि संगठनों में एकजुटता नहीं है। कुछ संगठन तो राजनीति से ओत-प्रोत होते हैं जो सतापक्ष की चाटुकारिता कर अपना उल्लू सीधा करते रहते हैं। कुछ निष्क्रिय। पत्रकारों की समस्याओं से उनका कोई लेना-देना नहीं होता। यदि इस प्रकार की घटनाओं में पूरा पत्रकार जगत एकजुट हो जाए तो केंद्र से लेकर राज्य सरकारों की चूलें हिलायी जा सकती हैं। दुर्भाग्य है कि पत्रकार संगठनों में एकजुटता नहीं दिखायी देती वरन् भ्रष्टता एवं अपराधिक आचरण का लबादा पहने भ्रष्टाचारियों व अपराििधयों की क्या मजाल जो कलम के आगे सिर उंचा कर सकें। लोकतंत्र के इस चैथे स्तम्भ का महत्व तभी है जब उसकी सुरक्षा हो, पत्रकारों पर हमले करने वालों को सख्त से सख्त सजा देने का कानून लागू हो। पीत पत्रकारिता करने वालों का भी संगठनों को जमकर विरोध करना चाहिए।

यदि आपके पास भी मीडिया जगत से संबंधित कोई समाचार या फिर आलेख हो तो हमें jansattaexp@gmail.com पर य़ा फिर फोन नंबर 9650258033 पर बता सकते हैं। हम आपकी पहचान हमेशा गुप्त रखेंगे। - संपादक

Your Comment

Latest News मजीठिया वेजबोर्ड का फैसला आपके हक में 19 जून को आएगा मजीठिया वेजबोर्ड का फैसला लुधियाना प्रैस क्लब के चुनाव 25 जून को भास्कर दिल्ली में अगस्त तक, यूपी में भी इंट्री न्यूज चैनल की महिला रिपोर्टर ने लगाया शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का आरोप विभूति रस्तोगी को ढूंढ रही है पुलिस, बलात्कार का है आरोप दैनिक जागरण के वरिष्ठ समाचार संपादक राजू मिश्र को रेड इंक अवॉर्ड पुणे में टीवी पत्रकार से बदसलूकी शशि थरूर मानहानि मामले में अर्नब गोस्वामी को हाईकोर्ट का नोटिस छत्तीसगढ़ को 17 साल बाद मिला अपना दूरदर्शन चैनल दैैनिक जागरण के मीडियाकर्मी पंकज कुमार के ट्रांसफर मामले को सुप्रीमकोर्ट ने अवमानना मामले से अट मुंबई में नवभारत के 40 मीडियाकर्मियो ने बनायी यूनियन दबंग के खिलाफ कई पूर्व संपादक भी केस करने को तैयार ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता से टारगेटेड जर्नलिज्म सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार का झूठा हलफनामा, कहा-हिन्दुस्तान की दसों यूनिटों में है मजीठिया लाग शशि थरूर ने अरनब गोस्वामी पर ठोका मानहानि का मुकदमा मानस त्रिपाठी का लैपटाप चोर ले भागे पत्रकार राजदेव हत्याकांड में पूर्व सांसद शहाबुद्दीन आरोपी मेक्सिको के दिग्गज वरिष्ठ पत्रकार की सिनालोआ में हत्या फोर्ब्स की ग्लोबल गेम चेंजर लिस्ट में मुकेश अंबानी अव्वल रिपब्लिक के साथ पोस्टर वार शशांक भापेकर को नहीं मिली जमानत अमर उजाला में कई संपादक इधर उधर जस्टिस मजीठिया वेजबोर्ड अवमानना: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला रिजर्व रखा उज्जैन में अखबार के खिलाफ मामला दर्ज टीवी चैनल के पत्रकार फैसल इकबाल को पुलिस ने जड़ा तमाचा पत्रकार दिलीप मंडल हुए सम्मानित जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड पर सुनवाई आज दैनिक जागरण के संपादक संजय गुप्त आइमा मैनेजिंग इंडिया अवार्ड से सम्मानित सुप्रीमकोर्ट में जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड की अगली सूनवाई तीन मई को रांची से शीघ्र ही न्यूजपोर्टल ‘लहरन्यूज डॉट कॉम’ की लॉचिंग दैनिक हिन्दुस्तान में प्रतिदिन मालिक का नाम न छापने का मामला बरेली डीएलसी को हिंदुस्तान के चार शिकायतकर्ताओं की तलाश मजीठिया मामले में दैनिक जागरण के एडवोकेट अनिल दिवान का निधन ऑफिस में यौन शोषण की शिकार महिला को मिलेगा बड़ी राहत वर्तमान समय में पत्रकारों को आत्म चिंतन की आवश्यकता -डॉ राजकुमार सिंह राजनीतिक पत्रिका ‘तुगलक’ के संस्थापक चो रामास्वामी का निधन संजय कुमार ने दूरदर्शन में सहायक निदेशक समाचार का पदभार संभाला रांची में पत्रकार पर जानलेवा हमले का आरोपी गिरफ्तार हिन्दुस्तान ने पत्रकारों को बना दिया मैनेजर, बिना जर्नलिस्ट के छाप रहे अख़बार बिहार में ईपीएफ या पीएफ पाने वाले पत्रकारों को पेंशन मजीठिया प्रकरण में हिंदुस्तान की सबसे बड़ी हार, लखनऊ में 16 आरसी कटने से हड़कंप हिंदुस्तान बरेली में राजेश्वर ने भी ठोंका श्रम न्यायालय में क्लेम 'मीडिया की ओर देखती स्त्री' का लोकार्पण पत्रकार से बदसलूकी पर तीन पुलिसकर्मी नपे एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार को कुलदीप नैयर सम्मान माखनलाल में खुलेगा भाषा व संस्कृति अध्ययन विभाग शिकायत वापस लेने वाले भी डीएलसी से बोले- नहीं मिल रहे है मजीठिया के लाभ संपादक संतोष तिवारी का निधन 'पत्रकारिता जोश और जुनून का काम